Heartbreaking-shayari-on-relationship

Heartbreaking shayari on relationship in hindi for wattsapp status 2021:

ek baar fir aap sab ke liye le kar aaya hun heart breaking shayari on relationship hindi aur english font mein aasha karta hun appko ye collection heartbreaking shayari on relationship in hindi ka status pasand aaega aap ise share kijiye apne doston mein jo relationship se uljhe hue hain..


bohot toot kar chaha tha hamne tujhe
utne hi aasani se toda har rishta tune
kash lag jaata pata teri niyat ka
ham samjha liye hote khud ko fursat se .

बोहोत टूट कर चाहा था हमने तुझे 
उतनी ही आसानी से तोडा हर रिश्ता तूने 
काश लग जाता पता तेरी नियत का 
हम समझा लिए होते खुद को फुर्सत से !!!

bada haq jamaya tha tujhpe uss zamane mein
aaj apni mohaabat ki nilami dekh raha hun...

बड़ा हक़ जमाया था तुझपे उस ज़माने में 
आज अपनी मोहब्बत की नीलामी देख रहा हूँ !!!

mere jaane ke baad
aasma se dekha usko
uski aankhein bhigi thi
aur dil mera ro raha tha...

मेरे जाने के बाद 
आसमा से देखा उसको 
उसकी आँखें भीगी थी 
और दिल मेरा रो रहा था !!!


khat me likh deta hun ab apna dard
dewaaron ko dard bayan karke bhi kya fayda..

खत में लिख देता हूँ अब अपना दर्द 
दीवारों को दर्द बयां करके भी क्या फायदा 


ek anjaan shakshiyat se bahot gahra hua rishta
mehndi uski haanthon pe lagi
aur rang mujhpar chadhta gya..
.
एक अनजान शख्सियत से बोहोत गहरा हुआ रिश्ता 
मेहँदी उसकी हांथों पे लगी 
और रंग मुझपर चढ़ता गया !!!

Ajeeb tamasha hai iss rangmanch ka,
koi dard deta hai to koi marham lagata hai

अजीब  तमाशा है इस रंगमंच का 
कोई दर्द देता है तो कोई मरहम लगाता है !!!

Hamesha saath nibhane ka wada, 
kaisa kia usne...
diwar pe ek tasveer bhi nhi,
mere jaane ke baad..

हमेशा साथ  निभाने  का वादा 
कैसा किया उसने ....
दिवार  पे एक तस्वीर भी नहीं 
मेरे  जाने के बाद !!!

Kabhi puch lia hota mera bhi haal
auron ki tarah....
uljha leta iss dil ko thodi der tak...

कभी पूछ  लिआ होता मेरा भी हाल 
औरों की तरह ...
उलझा लेता इस दिल को थोड़ी देर तक !!!

silwatein nhi aaj dekhi
aadat ban si gyi thi
chan chan karti payal
ab kahin kho gyi hai..
aaj mez bhi maayus hai
chai ka pyala jo bichad gya..
ghar jaldi aana ...
kehne wala chala gya..


सिलवटें नहीं आज देखी 
आदत बन सी गयी थी 
छन छन करती पायल 
अब कहीं खो गयी है 
आज मेज भी मायूस है 
चाय का प्याला जो बिछड़ गया 
घर जल्दी आना 
कहने वाला चला गया । 

mujhe marz hai ishq ka,
bechain bada kar deti hai,
har bar khurak main leta hun,
wo har dafa dard de jaati hai.


मुझे मर्ज़ है इश्क़ का 
बेचैन बड़ा कर देती है 
हर बार खुराक मैं लेता हूँ 
वो हर दफा दर्द दे  जाती है। 



badastur jaari raha mera ishq tujhse,
tu badalti rahi mausam ki tarah,
aas lagai teri chahat ki maine,
shayad mil jae aanchal tera...

बदस्तूर जारी रहा मेरा इश्क़ तुझसे 
तू बदलती रही मौसम की तरह 
आस लगाई तेरी चाहत की मैंने 

शायद मिल जाए आँचल तेरा !!!

wo shaam aaj bhi ,
zahan me hai mere,
uski duniya bas rahi thi
aur meri ujad gyi....

वो शाम आज भी 
ज़हन में है मेरी 
उसकी दुनिया बस रही थी 

और मेरी उजड़ गयी !!!

har baat tum hass kar taal deti ho,
mere ahsason ka mol na deti ho,
gaur se dekho meri aankhon me kabhi,
har labz tujhe pak lagega !!!

हर बात तुम हस कर टाल देती हो 
मेरे अहसासों का मोल न देती हो 
गौर से देखो मेरी आँखों में कभी 

हर लब्ज़ तुझे पाक लगेगा !!!


fursat me baitha to,
tu phir yaad aayi,
udaas mann kyun hai mera,
na tu thi kabhi na teri 
parchayi...

फुर्सत में बैठा तो ,
तू फिर याद आयी 
उदास मन क्यों है मेरा 
न तू थी कभी न तेरी परछाई !!!



किसी काम के लिए ही सही ,
हमें याद तो किया,
शुक्र है यादें किसी बाजार में नहीं बिका करती 
गर बिका करती .....
तो हमारा कोई खरीददार ना होता !!!

kisi kaam ke liye hi sahi,
hame yaad to kiya 
shukra hai yaadein kisi baazar me nahi bika karti
gar bika karti
to hamara koi khareedar na hota !!!

पैमाने में जाम सबने  देखा,
जाम से जुड़ा दर्द किसने देखा,
कट जाएगी उसकी याद,
इस पैमाने के सहारे .. 
चेहरे के पीछे का दर्द किसने देखा है  !!!

paimane me jaam sabne dekha 
jaam se juda dard kisne dekha 
kat jaegi uski yaad
iss paimane ke sahare
chehre ke piche ka dard kisne dekha hai !!!

ख्वाबों को बुनकर बनाना चाहा इक महल,
की मैंने, हर कोशिश- पहल,
ज़िन्दगी ने ऐसी क्यों करवट बदली 
 तिनको सा बिखर गया 
मेरा ख्वाबों का महल !!!!

khwabon ko bunkar banana chaha ek mahal
ki maine, har koshish pahal
zindagi ne aisi kyun karwat badli
tinko sa bikhar gya 
mera khwabon ka mahal !!

waqt guzarta hai yaadein rah jaati hai
tujhe paane ki khwahish me umar guzar jaati hai
pana tujhe meri kismat me tha nhi
par tujhe bhula dena ye meri fitrat nhi .

वक़्त गुजरता है यादें रह जाती है,
तुझे पाने की ख्वाहिश में उम्र गुज़र जाती है ,
पाना तुझे मेरी किस्मत में था नहीं ,
पर तुझे भुला दूँ ये मेरी फितरत नहीं !!

best-bewafa-shayri-in-hindi


keh do ek baar gunah kya hai mera,
Qareeb se sanwar lunga
nhi dur ho tu mujhse..
har cheez tujpe luta dunga.

कह दो एक बार गुनाह क्या है मेरा ,
क़रीब से संवार लूंगा 
नहीं दूर हो तू मुझसे 
हर चीज़ तुझपे लुटा दूंगा !!!


wo aksar shikayat karti hai,
tumhe parwah nhi hai meri,
kash ye dil  adalat hota koi,
har faisla uske haq me karta !!!


वो अक्सर शिकायत करती है ,
तुम्हे परवाह नहीं है मेरी 
काश ये दिल अदालत होता कोई 
हर फैसला उसके हक़ में करता !!!



 tumhe lubhane ke,
afsane dhundte rahe,
bahon mein thi tum uske,
aur khud ko ham bahlate rahe


तुम्हे लुभाने के ,
अफ़साने ढूढ़ते रहे 
बाँहों में थी तुम उसके 
और खुद को हम बहलाते रहे !!!



usne kaha tu jaa,
tera intezaar karungi,
lauta jab,
mera yakeen pukhta ho gya....


उसने कहा तू जा ,
तेरा इंतज़ार करुँगी 
लौटा जब,
मेरा यकीं पुख्ता हो गया !!!


झूठ कहते हैं लोग यहाँ 
दिल साफ़ रखो , सूरत में क्या है,
जिसे भूख है बदन की 
उसपे ही तूने सब कुछ है लुटाया 

jhooth kehte hain log yahan ,
dil saaf rakho,surat me kya hai,
jise bhookh hai badan ki ,
uspe hi tune sab kuch hai lutaya !!!


पूछ लिया नाम उसका,दिल में तमन्ना थी..
.नजर फेर कर चली गई  क्या इतनी ही कहानी थी....
 राह चलते फिर इत्तेफाक से मिले हम
 देखी उसने शोहरत मेरी ..
तो देख वह मुस्कुराई ,
तब जाकर आज उसकी नियत समझ में आई !!!

puch liya naam uska , dil me tamanna thi
nazar fer kar chali gyi kya itni hi kahani thi
raah chalte for ittefaq se mile ham
dekhi usne sohrat meri
to dekh wah muskurayi
tab jaakar aaj uski niyat samajh me aayi !!!

बड़ी आसान सी होती ज़िन्दगी,
गर पहचान लिया  होता वक़्त रहते उसे 
अब तो केवल ज़हर ही है 
जिसकी कोई दवा ही नहीं !!

badi aasan si hoti zindagi,
gar pehchan liya hota waqt rehte use
ab to keval zahar hi hai 
jiski koi dawa hi nhi.